Apple और Samsung जो न कर पाई वो Vivo ने कर दिखाया

0
121

साल 2017 में हमको मोबाइल्स में बहोत से बदलाव देखने को मिले उसमे से मुख्य था बेज़ेल लेस डिस्प्ले. छोटी या बड़ी हर कंपनी ने हर बजट में बेज़ेल लेस मोबाइल लोंच किये फिर चाहे हे वो सैमसंग हो या एप्पल हर कंपनीने बेज़ेल लेस ट्रेंड को फॉलो करते हुवे फोंस को छोटी छोटी बेज़ेल्स के साथ लोंच किया. हर कोई यही उम्मीद लगा रहे थे की साल 2018 मोबाइल्स की दुनिया कुछ और बड़े बदलाव लेके आयेगा और हुवा भी ऐसा. साल के पहले ही महीने में लॉस वेगास में चल रहे CES में चाइनीज जायंट Vivo ने दुनिया का पहला ऐसा फ़ोन लोंच किया जिसमे अंडर डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनर दिया गया है.

CES 2018 में बहोत सी कम्पनियो ने अपने अपने नये प्रोडक्टस नयी टेकनोलोजीस के साथ लोंच किये लेकिन इन सबके बिच Vivo ने बाजी मार ली. जब 10 जनवरी को विवो ने अंडर डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनर वाला फ़ोन दुनिया के सामने रखा तो मानो टेक्नोलोजी की दुनिया में भूचाल आ गया. जिसकी अब तक बाते ही की जा रही थी वो टेक्नोलोजी अब नजर के सामने है. Vivo अचनाक से मोबाइल की दुनिया का आमिर खान बन गया, चारो तरफ अब बस विवो के ही चर्चे हो रहे है. जैसे आमीर खान साल के अंत में फिल्म लाते है और चारो तरफ उनके ही चर्चे होते है ठीक वैसे ही विवो ने अचानक से मोबाइल्स की दुनिया में ये बड़ा सा बदलाव करके वाह वाही वसूल रही है.

विडियो को YouTube पर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे

यह भी पढ़े: HMD Global ने लोंच किया नोकिया 6 का 2018 मॉडल, किये इतने बदलाव

CES 2018 में सोनी ने लोंच किये तीन नये दमदार स्मार्टफोन्स, जाने फीचर्स और स्पेसिफिकेशन

कैसे काम करता है अंडर डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनर?

दरसल इस फ़ोन की डिस्प्ले के निचे सिनैपेटिक्स कंपनी का ऑप्टिकल इन फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है. अब ये सेंसर करता ये है की जब आप पहली बार अपना फिंगर रजिस्टर करवाते है तब ये सेंसर आपके फिंगरप्रिंट का 3डी मेप डिस्प्ले के अंडर सेव कर लेता है. इसके बाद आप नोर्मल फिंगरप्रिंट की तराह ही इसे इस्तेमाल कर सकते है. हालाकी ये सेंसर थोडा स्लो वर्क करता है लेकिन ये नयी टेक्नोलोजी है, इसमें अभी बहोत से अपडेट आयेंगे. Qualcomm भी ऐसा ही सेंसर लाने का एलान कर चुकी है. उम्मीद करते इस साल लोंच होने वाले सभी फ्लैगशिप मोबाइल्स में ये टेक्नोलोजी देखने को मिलेगी.

क्या होंगे फायदे?

जब कंपनिया आगे की और फिंगरप्रिंट स्कैनर देती है तो वे अपने फोन्स को बेज़ेल लेस डिजाईन नहीं दे पाती. अब अंडर डिस्प्ले फिंगरप्रिंट स्कैनर की मदद से कम्पनियो को बेज़ेल लेस डिजाइन देने में आसानी होगी और पीछे की और कैमेरे के लिए भी स्पेस मिल जाएगी ताकि कैमरे भी इम्प्रूव्ड हो पाएंगे.

यह भी पढ़े: HMD Global ने लोंच किया नोकिया 6 का 2018 मॉडल, किये इतने बदलाव

CES 2018 में सोनी ने लोंच किये तीन नये दमदार स्मार्टफोन्स, जाने फीचर्स और स्पेसिफिकेशन

उम्मीद करते है आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा हो,

सोशल मीडिया में करे हमें फॉलो:

Facebook:  https://www.facebook.com/aru4umedia

Twitter:  https://twitter.com/aru4umedia

Instagram: https://www.instagram.com/aru4umedia/

 

Thank You And Stay Connected My Friends.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here